Monthly Archives: June 2021

घर का चोर


दीनू एक ईमानदार किसान था। वह अपने खेतों में जी तोड़ मेहनत करता था और खूब अन्न पैदा करता था। घर में दो लड़के और एक लड़की तथा पत्नी, ये कुल पांच सदस्य ही थे। सभी कुछ सही सही चल रहा था । बच्चे स्कूल में पढ़ने जाते थे । जब बड़ा बेटा हाईस्कूल पास कर कॉलेज जाने लगा तो दीनू बहुत खुश हुआ । पर आये दिन घर से रूपये गायब होने लगे। शुरू शुरू में तो कभी दस कभी बीस, पर इधर सौ दो सौ अब हर रोज ग्याब होने लगे तो दीनू अपने बच्चों और पत्नी को इस के बारे में बताया। वे सभी अपनी अनभिज्ञता जाहिर की । घर में कोई आता जाता भी नहीं था। अब दीनू विचार करने लगा और अपने बेटों पर निगरानी रखने लगा । अचानक एक दिन उसका बड़ा बेटा रूपये निकाल रहा था जिसे दीनू ने देख लिया । वह उसके कॉलेज के दोस्तों से अपने बेटे के बारे में पूछताछ की । पता चला कि उसका बेटा गलत संगत में पड़ गया है और वह ड्रग्स लेता है । दीनू के पैरों के नीचे से जमीन खिसक गयी । वह क्या क्या सपना देखा था और क्या हो गया ।
घर आकर उसने पत्नी के साथ विचार विमर्श किया और बेटे को गलत संगति से दूर रहने के लिये समझाया । बेटे को अपनी गलती का अहसास हो गया और उसने अपने माता-पिता से माफ़ी मांग भविष्य में ऐसी गलती नहीं करने की कसम खाई । घर का चोर अपने माता-पिता की नसीहत पाकर एक कामयाब इनसान बना। दीनू को अपने बच्चों पर गर्व है।
जयहिन्द जयभारत वन्देमातरम

अधूरा

अधूरा

जीवन अधूरा है ग्यान के बिना ।
गुरु अधूरा है शिष्य के बिना ।
आँगन सूनी है संतान के बिना ।
घर सूना है घरवाली के बिना ।
दिल सूना है संगीत के बिना ।
दिन अधूरा है दिनमान के बिना ।
रात अंधेरी है चाँद के बिना ।
बगिया सूनी है बागवान के बिना ।
ताल तलैया सूखी है बारिश के बिना ।
मीन प्यासी है नीर के बिना ।
जंगल बीरान है पेड़ के बिना ।
स्कूल खाली है छात्र के बिना ।
सड़कें सूनी है मुसाफ़िर के बिना ।
बैठक सूना है दोस्त के बिना ।
महफिल सूनी है श्रोता के बिना ।
राजमहल सूना है राजा के बिना ।
खजाना खाली है सोना के बिना ।
सेज सूनी है सैयां के बिना ।
गोद सूनी है बालक के बिना ।
मंदिर सूना है भगत के बिना ।
भोजन फ़ीका है नमक के बिना ।
हम मायूस हैं दोस्त के बिना ।

जयहिन्द जयभारत वन्देमातरम

पाप और पश्चाताप

आज सत्तर साल की राधिका अपने घर में अकेली सोच रही थी । बेटे की चाह में जब उसने दो दो बार अपना गर्भपात करवाया था। वही बेटा बुढ़ापे में उसे अकेला छोड़कर मोटी कमाई के लिये परदेश चला गया । काश बेटियों को गर्भ में नहीं मारती । पर अब पछताने से क्या फायदा । तभी उसका बेल बजा , दरवाजे पर दो जवान लड़की मुस्कुराती हुई हाथ जोड़ कर नमस्ते की और शालीनता से बोली । आंटी जी हम दोनों सहेलियां यहीं आपके शहर में बैंक में काम करती हैं । मुझे पता चला है कि आप इतने बड़े घर में अकेली रहती हैं, क्या हम दोनों आपकी बेटी की तरह आपके साथ रह सकते हैं । हमें माँ का दुलार मिलेगा और आपको बेटी का प्यार । राधिका को लगा कि उसकी अपनी बेटी लौट आयी है । उसने कहा रूको अभी आती हूँ और घर के अंदर जाकर आरती की थाली सजा कर दरवाजे पर आकर दोनों की आरती उतार उसे स्नेह से घर के अंदर ले जाती है । वर्षों बाद आज राधिका का पश्चाताप सफल हो गया । तीनों माँ बेटी की तरह खुशी खुशी जीवन जीते रहे ।

जयहिन्द जयभारत वन्देमातरम

देश हित में

आपस में मिलजुल कर रहें तो कोई बात बने ।
अपनी कहें और दूसरों की भी सुनें तो कोई बात बने ।
स्वार्थ को भूलें और सबके लिए सोचें तो कोई बात बने ।
देश ही सर्वोपरि है ऐसा भाव मन हो तो कोई बात बने ।
सच को सच कहने का साहस जुटाये तो कोई बात बने ।
भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठायें तो कोई बात बने ।
जाती पांती का भेदभाव मिटायें तो कोई बात बने ।
भ्रष्ट तंत्र को सत्ता में वापस आने से रोके तो कोई बात बने ।
तनमन से देश हित में काम करें तो कोई बात बने ।
बात नहीं करके कोई उपकारी काम करें तो कोई बात बने ।
आप सभी युवा देश की अमानत हैं अपने को जानें तो कोई बात बने ।
देश संकट में है सरकार का साथ निभायें तो कोई बात बने ।
पानी का सही प्रबन्धन करें तो कोई बात बने ।
जंगल को कटने से बचायें तो कोई बात बने । नये नये पेड़ लगायें जीवन बचायें तो कोई बात बने ।
जयहिन्द जयभारत वन्देमातरम

बुनबा हलवाहा

बुनबा हलवाहा
पचास के दशक में हमारे गाँव में खेती किसानी और पशु पालन ही सभी का मुख्य पेशा था । पहाड़ी के पास बसा हमारा गाँव सब तरह से संपन्न था। खेती बाड़ी संभालने और पशुओं की देखभाल के लिए लगभग सभी घरों में उनके हलवाहे होते थे। बुनबा माझी भी हमारे घर का पुस्तैनी हलवाहा था। जब भी काम पर बुलाया जाता वह सुबह सवेरे ही आ जाता था । बैलों को चारा डालता, हल तैयार करता और मुँह अंधेरे हलबैल लेकर खेतों पर जुताई करने चला जाता था । आठ बजे उसके लिये रोटी सब्जी और पानी लेकर पिता जी खेतों पर जाते थे। तब तक वह आधा बीघा खेत जोत चुका होता था। फिर हल खड़ा कर वह रोटी खाता थोड़ी देर आराम करता और फिर काम पर लग जाता था ।
दोपहर हल बैल लेकर घर लौट आता था। बैलों को नाद पर बाँधकर चारा डालता। खुद हाथ पैर धोकर लोटे में पानी लेकर बरामदे में आकर बैठ जाता । माँ उसे कभी रोटी सब्जी अचार और प्याज खाने को देती तो कभी जौ बूट मक्का का सत्तू, जिसे वह बहुत ही प्यार से खाता था । जाने वक़्त डेढ़ सेर कोई भी अनाज उसे दी जाती थी। खेत बोने , गोराई करने के साथ साथ पशुओं के लिये चारा पानी लाने का सभी काम वह मन लगाकर करता था । जब कभी उसे हमारे घर काम नहीं मिलता तब वह किसी दूसरे के घर काम करने जाता था या जंगल जाकर जलावन की लकड़ी लाता और हमारे गाँव में बेचकर अपना गुजर बसर करता था । फसल की रखवाली के लिये उसे अलग से दस कट्ठे के टुकड़ा से तीसरा हिस्सा उसे दिया जाता था । इस तरह उसे अपने खाने के लिये कभी भी परेशानी नहीं होती थी । वह बहुत ही वफादार और इमानदार हलवाहा था। पिता जी उसे बहुत मानते थे और फसल घर आने पर उसे अलग से अनाज दिया जाता था जो उसकी मजदूरी से अलग होती थी । वह जबतक जिन्दा रहा हमारे परिवार का हिस्सा बनकर रहा।
आज वर्षों बाद भी उसकी सेवा और कर्मठता मुझे याद है ।

जयहिन्द जयभारत वन्देमातरम

Value of one

One itself is a great number.

A Sun is only one who lights the whole world.

It gives energy to the whole world.

A moon  is only one who gives smooth light in the night.

All the plants give flowers and fruits only because of moon.

Wind is only one who blows Air in the whole world.

All the living beings survival depends on Air only.

Rama was only one who united India from north to south west to east, killed the demons and became the God for all Hindus.

Krishna was only one who taught Gita to the whole world for the survival.

Gautam Buddha was only who taught humanity to the whole world.

Hitler was only one who became a General from Sipoy and dictator who started world war two.

National Mandela was only one who faught for equality, prisoned for 27yrs and later won the peace full battle and became the first black president of South Africa.

Guru Nanak Deo was only one who taught brother hood and equality to the mankind .

Swami Vivekananda was only one who taught to whole world that the religion is only one, that is Humanity, all are brother and sister in the whole world .

Chanakya was only one Guru who united the country when it was raided by Hoons , Mangoles and Sikendra and raised the Chandra Gupta from poverty to be a king of this great country.

Abraham Lincoln was the only one who became the president of United States of America from a peasant boy.

Kalam was only one to become the president of the country from a poor family and became one of the great president of our country.

Narendra Modi jee is only one to become the most popular and powerful PM of our country from a tea seller boy.

There are many more examples you can search on Google. You can also see your neighbourhood and surroundings.

So nothing to worry about your self, you too can touch the sky, only you have to work hard and prove yourself.

Jaihind jaibharat vendamatram