इनसानी कुत्ते

शायद इन कुत्तों को समझ होती,

तो ये यकीनन कुत्ते न होते ।

कुत्ते आज इनसे बेहतर हैं,

अपने मालिकों के वफादार हैं ।

पर ये इन्सान उनसे भी गये गुजरे हैं,

इनसान होकर भी, इनसान को दगा देते हैं ।

कुत्तों की नकल तो करते हैं,पर वफादार नहीं हैं ।

ये इनसान इनसानीयत को बदनाम करते हैं ।

ये इनसान इनसानीयत को बदनाम करते हैं ।

ये इनसान इनसानीयत को बदनाम करते हैं ।

जयहिन्द जयभारत वन्देमातरम ।

Advertisement

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: