Monthly Archives: November 2016

हमारे पूजनीय 

माता पिता गुरु और भाई, सदा सदा से पूजे जाते। 

जिसके घर पर छत है भाई, काहे डर बारिश पानी का। 

माता पिता बसे जिस घर में, मंदिर उसका अपना घर है। 

बहना प्यारी बड़ी दुलारी, भैया उसकी करे हिफाजत। 

माता पिता भाई  वो बहना,अमर बेल सा मिल कर रहना। 

इस जग में सब संगी साथी, मिलकर सारे साथ निभाना। 

आज यहां सब मौज मनाते, कल होंगे हम बहुत पुराने। 

जग हँसता है यहाँ न कोई, सदा सदा है रहने वाला। 

एक दूजे का आदर मन में, यों ही प्यार लुटाने वाला। 

छोड़ अगर वह दुनिया जाये, याद सदा है आने वाला। 

ऐसे बनकर  जायें जग से, सबके मन को भाने वाला। 

सब के मन को भाने वाला। 

जयहिंद जयभारत वन्देमातरम। 

दानव दहेज 

​दहेज लेने वाला हर वह व्यक्ति धन पिचास है।

और देने वाले हर वह व्यक्ति बेवस लाचार है। 

सरकार तो कानून बना दिया है, दहेज देने का।

बेटा बेटी का हक बराबर है पिता के धन पर। 

पर ये बेटी पर निर्भर है कि वह हकदार है या नहीं। 

भाई बहन में ता उम्र प्यार बना रहे या टूटे। 

प्यार का रिश्ता हो तो धन कुर्बान करे। 

अपना हक भाई को खुशी से दान करे। 

शादी ब्याह में नाजायज खर्च न करें। 

दूसरों पर गाढी कमाई न बरबाद करें। 

बेटी को अच्छे संस्कार देकर बिदा करें। 

भाई बहन के प्यार को सलामत रक्खें। 

मँहगी शादी ही बरबादी का कारण है।

यही तो दहेज का असली कारण है। 

मँहगे कपड़े, मँहगे गहने, ताम झाम।

खाने पर बरबादी, बघारने को शान। 

फिर रोते हैं दहेज पर,क्यों होते परेशान। 

चन्द मित्रों  और सगे संबंधी के साथ। 

लड़के लड़की का करें कन्या दान। 

दोनों पक्षों का होगा कल्याण। 

सुखी दोनों परिवार, सुखी समाज। 

शुरू करें सब मिलकर ये अच्छा समाधान। 

ये है बढिया समाधान। 

जयहिंद जयभारत वन्देमातरम।

पारिवारिक बंधन 

बीत गयी है उमर साठ अब,काम काज छूटा घर का।

बेटा बेटी बड़ी हो गयी, उनका अपना घर संसार।

बच्चे उनके पढ़ने जाते, बीबी आफिस जाती है।

आया करती देखभाल है, बच्चे आया पलती है।

सुबह शाम हर रोज रसोई, महराजिन ही सिकती है।

झाडू पोछा, बर्तन बासन, कपडे़ बाई धुलती है।

बच्चों को ये पता नहीं है, पापा मम्मी क्यों कहती है।

दादा दादी क्या सब करते, घर में क्यों ये चुप्पी है।

नहीं समय मिलता है इनको, बच्चों से बातें करने को।

दादा दादी से दूर रहे वो, डर से आँख चुराते वो।

तभी एक दिन बोले दादा, साथ नहीं रहना हमको।

घर तेरा है बच्चे तेरे, हम ठहरे सब बूढ़े लोग।

न वो बोली,न तू टोके, इस घर में रहते हमलोग।

बहू सुबह जाती है आफिस, देर रात घर आती वो।

बच्चे तेरे आया पाले, मुझसे तुमको आती लाज।

तुम्हें पढाया हम दोनों ने, तभी बडे़ बन पाये आज।।

पोते पोती पढ़ते हमसे, क्या दोनों बन जाते अनपढ़।

यही समझ कर आया लाया, आया है हमसे बढ़कर।

दूर हो गया पोता पोती, दादा दादी से नेह नहीं।

आया ही है मम्मी पापा,आया ही है सखी सहेली।

हम तो एक आवारा पंछी, डाल डाल पर उड़ना है।

अलग अलग रहकर हम दोनों, फूलों जैसा खिलना है।

अभी उमर बाकी है मेरी, जीने की है चाह हमारी।

सुखी रहो तुम बच्चों संग में, हम जाते हैं अपने बारी।

समय अगर मिल जाये तुमको, मिलने आना बच्चों साथ।

खुशी खुशी रहना कुछ दिन तक, चाहो फिर तुम रहना साथ।

क्यों कर हम बाधक हों तेरे, क्यों तुम सब नाराज रहो।

खुशी रहो तुम अपने घर में, बच्चों के संग सुखी रहो।

खुशी खुशी हम जाते घर से, खुश रहना बच्चों के साथ।

और खुशी हम अपने घर में, और खुशी हम अपने आप।

जब तक जीओ हँसकर जीओ, नहीं कभी होना नाराज।

राज दुलारे प्यारे बच्चो, तुम सब पर है हमको नाज।

तुम सब पर है हमको नज।

जयहिंद जयभारत वन्देमातरम।

 संदेश

सुन लो ये संदेश देश के ग़द्दारों,भारत नहीं रूकेगा तेरे रोने से।

जनता सारी जान चुकी है,तेरे काले कारनामों को।

रोना धोना बंद करो तुम,मोदी के गुण गाओ तुम।

देश में बंदी अब न होगी,तुम सब बंदी घर जाओगे।

भारत माँ के आँचल से अब,गंदी सब धुल जायेगी।

धुले गंदगी घर घर से,यही इरादा है सबका।

काले नोटों वाले रोते,रोते हैं ये काले कोट।

लूट लूट कर मौज मनाया,उसे लगी है भारी चोट।

हम सब दुखी ग़रीबी से हैं,ले लो अब ये नायब भेंट।

बरसो बाद है दौड़ा भारत ,देश भक्ति का उमरा ज्वार।
अब ये मंद नहीं होगा,तुम चीख़ चीख़ कर मर जाओ।

भारत बंद नहीं होगा अब,जनता पूरी जाग गयी।

काले धंधे करने वाले,काले धन दौलत के मालिक।

बीत गया है वक़्त तुम्हारा,काले धंधे करने वाले।

मोदी की सरकार यहाँ है,भारत ही अब मोदी है ।

भारत ही अब मोदी है,भारत ही अब मोदी है।

जयहिंद ,जयभारत,वन्देमातरम ।

ताकत का जिन्न 

बचपन में दादा दादी एक कहानी सुनायी करती थी। एक राजा के राज्य में एक बहुत ही बर्बर राक्षस रहता था। वह अपने इलाके में आने वाले सभी लोगों को परेशान करता रहता था। राजा और राज सैनिक उसे पकड़ने और मारने की कोशिश करते रहे पर वह काफी शक्तिशाली था। वह किसी के बस में नहीं आ रहा था। क्योंकि उसे मार देने पर फिर से जीवित हो जाता था। राजा ने पूरे राज्य में मुनादी करवा दी कि अगर कोई उसे मार दे तो उसे राज्य में एक बड़ी जागीर दी जाएगी। साथ ही उसने साधु संतों से भी उपाय बतलाने की गुजारिश की। 

       एक दिन एक बूढ़ा सन्यासी राज दरवार में आकर राजा को बताया, महाराज उस राक्षस की जान एक तोते में बसती है। अगर आप उसे मार दें तो वह राक्षस अपने आप ही मर जायेगा। वह तोता जंगल के पश्चिमी तट पर एक गुफा में रहता है। फिर क्या था राजा अपने विश्वास पात्र सैनिकों के साथ गुफा में तोते को ढूंढकर मार डाला। राक्षस तोता के मरते ही मर गया और राज्य में शांति हो गई। भाई, मोदी जी ने भी उसी तोते को मार डाला है। काले धन रूपी वह तोता के मरते ही काले कारनामों वालों का वही हाल हो गया है। काले धन के बिना सब के सब कंगाल हो चुके हैं। उनके हाथों से तोते उड़ गए हैं। जिस अकूत धन के बल पर वे आम आदमी पर जुल्म करवाते थे, वह अब कचरे का ढेर होकर रह गया है। यही कारण है कि वे सब बिलबिला रहे हैं और जनता को गुमराह कर रहे हैं। मैं बंगलौर में रहता हूँ और यहाँ बहुत जगह घुमता फिरता हूँ, हमारे साथ पच्चीस बुजुर्गों की महफिल हर रोज शाम को पार्क में सजती है। हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि यहाँ किसी को भी नोट बंदी से कोई तकलीफ नहीं हो रही है। बैंक और ए टी एम में पिछले चार पांच दिनों से कोई बड़ी लाइन नहीं है। पहले जैसा सब कुछ ठीक है। विरोधी दल जरूर खफा हैं, क्योंकि उनका कालाधन कचरा हो चुका है। अतः आप सबों से सविनय निवेदन है कि आप उनके बहकावे में आकर भारत बंद में भाग नहीं लें। अगर कोई दुकानदार बंदी में भाग लेता है तो भविष्य में आप सभी उस दुकान का बहिष्कार करें और उससे कोई भी सामान न खरीदें। देश के हित में मोदी जी का साथ दें। 

   जयहिंद जयभारत वन्देमातरम।

भूखे कुत्ते 

भूखे कुत्ते भूक रहे हैं सड़कों पर, 

भैया दे दो रोटी उनको सडकों पर। 

भूखा है वह कुत्ता पिछले वर्षों से, 

दूध मलाई, रबड़ी दे दो कुत्तों को। 

अगर बचा है जूठन तेरे चौके पर। 

देखो कितना रहा बिलबिला, 

भूखा कुत्ता है बेजार। 

जनता जाग गयी है कुत्ते, 

सोने दे उसको तुम यार।

सोने दे उसको तुम यार। 

जयहिंद जयभारत वन्देमातरम।

शादी की पहली वर्षगांठ 

शादी की पहली वर्षगांठ है, दुआ तुम्हें हम देते। 

रहे सुखी संसार तुम्हारा, रहो सदा मुस्काते। 

हँसते रहो सदा जीवन में, दोनों मिलकर गाते। 

एक दूजे के प्यार में बंधकर, खुशियाँ रहो लुटाते। 

आने वाला जीवन तेरा, सदा रहे खुशहाल। 

माँ बाबा की दुआ तुम्हें है, फलो फूलो हर हाल। 

कभी न थकना कभी न रूकना,आगे बढ़ते जाना। 

कदम कदम पर साथ निभाना, भूल कभी न जाना। 

एक दूजे की छाया बनकर, जीवन साथ निभाना। 

माँ बाबा का संबल बनना, कभी भूल मत जाना। 

गोदी तेरे बच्चे खेले, घर में खुशियां बरसे। 

लहराती बगिया हो तेरी, जीवन में तू हरषे। 

जुग जुग जीए लाल हमारा, संघ पत्नी बच्चों के। 

यही दुआ है बहू बेटे को,साथ साथ ही चमके। 

बरसों बरस सलामत जोड़ी, हँसते गाते चहके। 

हँसते गाते चहके, हँसते गाते चहके। 

A happy trip to yercoud hill station

On 17 Nov.16 I have started my journey from Bangalore to Selam with my wife by bus from shantinagar bus stand Bangalore . It was a wanderful journey. The govt.bus service was very vey comfortable,as it was a AC bus having extended seat even better than Aircraft seat. I was enjoying the nature all around on the way,from Bangalore to Selam the four lane smooth and well maintained high way ,very very green vegetation ,small and big villages,it was all eye catching. Half way journey the  bus stopped  for twenty minutes at a neat and clean restrorent having very clean washroom . People have enjoyed their lunch there. The second leg journey from there was also comfortable as the roads were well maintained through out ,it is appreciated work by the highway authority. One can see the infrastructure of Tamilnadu ,it is really taken care ,people and authorities from other states like Bihar must see and take lessons from it . I reached Selam new bus stand after four and half our from Bangalore .

              There were regular bus service from Selam to Yercoud having very good maintained Buses by Tamilnadu govt. I was surprised to see the bus fares,it was just 60 paisa per kilometre,from Selam to Yercoud 30 KM I have paid only 17 ruppies per head,hats off to Amma and her govt. no where in India at present we can avail this cheap bus service. Yercoud is at high altitude ,climbing on the zig zag road on the hill,you can really enjoy the valley sight beauty,very very green vegetation and tall trees ,it is a very thick jungle ,where you can watch herds of monkeys playing all around the road side. As you are climbing up and up the climates are becoming colder ,it gives you a pleasant feelings,you can see thick fogs in the valley billow ,sunny and cloudy ,one must have the experience at least once in their life time. I say you can not resist to watch all these on the way. Reaching on the top you will get out the bus ,where auto and taxi is waiting for you to take you to your hotels or resorts,you may be willing to stay. It is better to book your accommodation in advance ,specially on holidays and week ends on line,other wise you have to pay more on the spots .On these days rushes are there as more and more people are visiting.

             It is a reality that on the top you may have to pay for any items or services more ,you may feel but there is no ago alternatives available,some times you will be charged three to four times compare to plains for lunch ,dinners and tea,Coffey . There you can see and enjoy Coffey gardens,ladies seat,gents seat,children’s seat,rose garden,botanical garden,shevaroyan tample,rajarajeswari tample. all these are just like any other tamples and places ,all the seats are just given names but you can watch the very very deep vallies bellow from the seats. Rose garden is very beautiful but only in the seasons when it flowers, there is neat and clean lakes where you can enjoy boat ridings with your family and kids. In one night stay you can visit all these places but to enjoy the pleasant climates you can stay for more days as per you pockets. I stayed in Grange Resorts,a Coffey state where one night charge was nearlly 3000/-for one night in a standard country cottage. It was the cheapest in that state.

         I have really enjoyed my stay and visit, seeing all the places ,evening and night walking in the Coffey state ,it was moon light ,so much cold that I have to put on my winter dress in the night while walking, in side cottage all good facilities were provided. My stay was comfortable ,only pinching was the heavy charges all over . Still I will recommend to the people staying in hot area ,they must visit once in their life time to see the natural beauty created by God and feel the comfort of natural climates ,away from daily routine ,change in life stiles, money is not the every thing in life ,one can not spend more than 40% of their life earning in their whole life, some times take leave from your routine life too,don’t be miser ,as it is also an old proverb -miser is the best donner in the world,and it is true,you should not be named as a miser. My best wishes to you all,this was my own experience which I have narrated here ,I hope you may like it. Thanks you all for at least reading my pleasant journey to Yercoud.

     Jaihind ,jaibharat ,vandematram .

               

Bypass the Bypass Surgery 

​*“Bypass the Bypass surgery” By Dr Syed Zair Hussain Rizvi*

EVERY SEED OF POMEGRANATE (DELUM) WHICH GOES IN YOUR STOMACH IS A SEED OF LIFE FOR YOUR HEART….*

Two things are full of benefits for the human being, Lukewarm Water & Pomegranate.

I prepared a decoction boiling a fistful of dried seeds of Pomegranate in half litre of water for 10 minutes, strained the decoction and advised those patients suffering from painful Angina to drink a glass of lukewarm decoction on empty stomach early mornings.

Amazing result was observed, _the decoction of dried pomegranate seeds worked like a magic, the feelings of tightness and heaviness of chest and the pain were relieved._

It encouraged me to try more experiments on various types of cardiac patients.  So I experimented on patients who were suffering from painful Angina, Coronary Arterial Blockage, Cardiac Ischemia (insufficient blood flow to the heart muscle) etc, who were waiting for  bypass surgery. 

Drinking lukewarm decoction on empty stomach in the morning provided quick relief in all symptoms including painful condition._

In another case of Coronary Arterial Blockage the patient was given half glass of fresh pomegranate juice everyday for one year, although all symptoms were completely relieved within a few weeks but they continued taking it for a whole year. 

This  completely reversed the plaque build-up and unblocked arteries to normal, the angiography report confirmed the evidence.

Thus decoction of dried pomegranate seeds, fresh pomegranate juice or eating a whole pomegranate on empty stomach in the morning proved to be a miracle cure for cardiac patients. But _the lukewarm dried seeds decoction proved to be more effective_ compared to eating a whole pomegranate or fresh pomegranate juice.

Consuming  pomegranate has demonstrated even more dramatic effects as blood thinner, pain killing properties for cardiac patients, lowers LDL (low density lipoprotein or bad cholesterol) and raises the HDL (high density lipoprotein or good cholesterol)._ 

There are more than 50 different types of heart diseases and the most common being Coronary Artery Disease (CAD), which is the number one killer of both women and men in many countries, and there has been no medicinal cure for this disease.

Many cardiac patients have reversed their heart diseases by drinking one glass of lukewarm decoction of pomegranate dried seeds, half glass of fresh pomegranate juice or eating a whole pomegranate on empty stomach in the morning.

It was the very first real breakthrough in the history of cardiology to successfully treat the cardiac diseases by a fruit..

It is regretted to say that treating the heart patients and bypass surgery has become far more profitable business around the world.

*A regular use of pomegranate in any way ensures a healthy cardiac life, thinning your blood, dissolving the blood clots and obstruction inside the coronary arteries, maintains an optimal blood flow, supports a healthy blood pressure, prevents and reverses atherosclerosis (Thickening of the internal lining of the blood vessels).* 

From these experience and observations in last several years, I can say:

_“A Pomegranate a day keeps the Cardiologist away”._

You can try and see the wonder work….

 From today let us try and see.

अदभुत 

अदभुत एक नजारा देखा, मुझे बहुत गुलजार लगा। 

एक गाय घुमती थी घर घर, पीछे कुत्ते चार लगा। 

समझ मुझे कुछ बाद में आयी,कुत्ते पीछे घुमते क्यों। 

गाय घुमती रोटी पाने, कुत्ते भी हक छोड़ें क्यों। 

चार चार कुत्तों की टोली, गाय के आगे पीछे चलते। 

जेड सिक्योरिटी से घिर कर, नेता जी जैसे घुमते। 

गाय खड़ी होती है द्वारे, रोटी मिलती है इनको। 

बची खुची कुछ टुकड़े गिरते, झपटे हैं कुत्ते इनको। 

नेता जैसे टैक्स बसुलते,गाय भी रोटी लेती वैसे। 

चमचे वाली रौल निभाते, चारो कुत्ते भी वैसे। 

गली गली घुमती है गइया, घर घर पूरे गाँवो में। 

मस्त नजारा देखा मैंने, टाटा के इस गांवों में। 

दिन एक नहीं दो चार नहीं, पूरे महीने देखा है। 

सुबह नहीं व शाम नहीं,पर हर दिन मैंने देखा है। 

गायों को रोटी देने का, घर घर मैंने देखा है। 

गायों और नेताओं में हम , एक सा समता देखा है। 

घर घर आज भिखारी भटके, नहीं आाज मैं देखा है। 

भिखारी के बदले भटके, हमने नेता देखा है। 

भीख मांगते वोटों का वे,हांथ जोड़ते देखा है। 

बनते ही सरकार उन्हें हम, रंग बदलते देखा है। 

भूल चुके हैं वादे वे सब, खतम एलेक्शन के होते। 

गिरगिट देख शर्मसार हुई है, नेताओं के रंग बदलते। 

गैया तो गैया है भइया, नेता नहीं वह गैया है। 

अद्भुत रोज नजारा दिखे, कुत्ते संग में गइया है।

कुत्ते संग में गइया है। 

जयहिंद जयभारत वन्देमातरम।